WhatsApp vs Signal features in Hindi Signal में नहीं WhatsApp के फीचर्स

WhatsApp और Signal में क्या है अंतर

दोस्तो whatsapp में प्राइवेसी फीचर के आने के बाद अगर आप भी signal app इस्तेमाल करने का मन बना रहे हैं (whatsapp vs signal) तो आपको ये जान लेना चाहिए कि ये सिग्नल ऐप कितनी सेफ है। साथ ही ऐसे कौन से फीचर्स हैं जो आपको सिर्फ whatsapp पर ही मिलते हैं.

दोस्तो हमारे ब्लॉग justmyhindi में आप सभी का बहुत बहुत स्वागत है आज इस लेख में हम आपको बताएंगे कि whatsapp और signal app में क्या अन्तर है whatsapp में ऐसे कौनसे फीचर्स है जो आपको signal app में देखने को नहीं मिलेंगे । whatsapp और signal app में कोंन बेहतर है। signal app की privacy policy क्या है। और signal app के फीचर्स क्या क्या है इन सभी को जानने के लिए आप इस लेख को पूरा ध्यान से पढ़िए।

व्हाट्सऐप की नई प्राइवेसी पॉलिसी आने के बाद बड़ी संख्या में यूजर्स दूसरे प्लेटफॉर्म जैसे (Signal app क्या है?किस देश का है?किसने बनाया,इसे dwonload और use कैसे करे?) telegram और Signal की ओर जा रहे हैं. में सवाल उठता है कि क्या Signal ज्यादा सेफ और व्हाट्सऐप के जैसा यूजफुल ऐप है. आइये जानते हैं WhatsApp और Signal में क्या अंतर है.

सिग्नल ऐप की प्राइवेसी पॉलिसी में क्या है? (Signal App Privacy Policy)

  1. दोस्तो signal app के द्वारा जो जानकारी दी गई है, उसके अनुसार app मोबाइल नंबर के अलावा कोई और जानकारी नहीं लेता है ।
  2. signal app मोबाइल नंबर से आपकी पहचान उजागर नहीं करता है।
  3. signal app की प्राइवेसी पॉलिसी में यह भी शामिल है कि अगर आप signal app पर किसी अन्य वेबसाइट की सेवाओं का उपयोग करते हैं, तो signal के बजाय उस वेबसाइट की शर्तें लागू होंगी।
  4. signal app का इस्तेमाल करने की न्यूनतम आयु 13 साल है।
  5. यह signal app आपके फोन की Contact list को यह बताता है कि आपके कौन से Contacts सिग्नल का इस्तेमाल कर रहे हैं.

Signal app review hindi

  1. आपको पता है रहेगा कि ऐप के अंदर क्या है?

signal app का सोर्स कोड सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध है. ऐसे में दुनियाभर के सिक्योरिटी एक्सपर्ट्स इसमें आ रही दिक्कतों को चेक कर सकते हैं। ऐसे में इसे बाकी app की तुलना में तेजी से फिक्स किया जा सकता है.

  1. सब कुछ इसमें एनक्रिप्टेड है (whatsapp vs signal)

signal app हर चीज को एनक्रिप्ट कर देता है. इसमें आपकी प्रोफाइल फोटो, वॉयस-वीडियो कॉल्स, अटैचमेन्ट्स, स्टिकर्स और लोकेशन पिन्स शामिल हैं.

  1. ये आपके चैट्स का बैकअप सुरक्षित तरीके से करता है

signal app आपके मैसेजेस का असुरक्षित बैकअप्स क्लाउड को नहीं भेजता है। जहां इसे गूगल और वॉट्सऐप समेत कोई भी पढ़ सकता है। जबकि, इन्हें आपके फोन में एनक्रिप्टेड डेटाबेस में स्टोर किया जाता है। साथ ही signal app अपने सर्वर में आपके कॉन्टैक्ट्स तक नहीं रखता है और ये आपको आपके फ्रेंड्स मैच कराने के लिए दूसरी प्राइवेसी फ्रेंडली मेथड का इस्तेमाल करता है.

  1. इसमें आपको कई प्राइवेसी फ्रेंडली फीचर्स सबसे पहले मिलेंगे (whatsapp vs signal)

Signal का एक सबसे पुराना और यूजफुल फीचर वो है, जिससे आप मैसेज डिसअपीयर कर सकते हैं. ये फीचर हाल ही में वॉट्सऐप में आया है. यूजर्स इसके लिए 10 सेकेंड से लेकर एक हफ्ते तक का टाइमर सेट कर सकते हैं. इससे पुराना कोई भी अपने आप वैनिश हो जाएगा. साथ ही वन-टाइम व्यूएबल मीडिया और मैसेजिंग रिक्वेस्ट्स जैसे कई फीचर्स वॉट्सऐप में नहीं मिलते हैं.

Signal app features in Hindi (whatsapp vs signal)

  1. view massage details

siganl app के इस features से आप अपने मैसेज का पूरा विवरण देख सकते है । जैसे कि आपने इसे कब भेजा है और कब वितरित किया है। इस फीचर्स का कैसे इस्तेमाल करे इसके लिए हमारे नीचे दिए गए कुछ प्वाइंट को ध्यान से पढ़िए।

1.सबसे पहले आप अपने contact की चैट खोलें।

  1. chat खोलने के बाद आप चट में टेप करेंगे तो आप के सामने उपर navigate खुलेगा उपर ऑप्शन खुलेंगे।
  2. एंड्रॉइड या आईओएस में use करने वाले लोग, मैसेज बबल पर या बबल के अंदर की सफेद जगह पर टैप और होल्ड करें।
  3. डेस्कटॉप में इस्तेमाल कर रहे लोग इस chat बबल के अंदर होवर करें और to और चुनें।
  4. typing on/off features

आप signal app में इस features की मदद से chat ke उपर में जो टाइपिंग करते टाइम “typing” show होता है उसे आप ओं और 📴 भी कर सकते है । इससे आप जिससे चट कर रहे है उसे पता नहीं चल पाएगा कि आप टाइपिंग कर रहे है।

  1. hide blue tick option (whatsapp vs signal)

whatsapp की ही तरह इसमें भी यह features दिया गया है अगर आप चाहते है कि सामने वाले को पता ना चले कि आपने massage को read किया है तो आप इस features की मदद से signal app में Read Receipt Option को On कर सकते है।

  1. Disappearing Message Feature (whatsapp vs signal)

Signal App में Disappearing Message Features बहुत ही खास फीचर्स दिया गया है इसकी सहायता से आप आसानी किसी भी निर्धारित समय के बाद Chat History को आसानी से Delete कर सकते है। यानी कि आप जब चाहें सामने वाले के सामने से अपनी chat history यानी पूरी चट को डिलीट कर सकते है।

5.Security Pin Setup (whatsapp vs signal)

Signal App में यह सिक्योरिटी pin का ऑप्शन दिया गया है जिससे कि आप अपने signal app में security pin इस्तेमाल करके safe रख सकते है जिससे की आपके signal app की privacy को कोई भी नहीं use कर पाएगा। आपके Signal Account को कोई भी Access नहीं कर सकता है। यह एक 4 Digit का Pin होता है जो आपके Signal App के Account को Secure रखता है।

  1. Group Joining Notification Alert (whatsapp vs signal)

यह signal app में बहुत ही खास फीचर्स है यह whatsapp में नहीं दिया गया था जो हमारे account को और भी ज्यादा secure बनाता है। जैसे अगर Signal अप्प में कोई भी Group बनाता है और उसमे आपको Add करना चाहता है। तब आपको एक Notification आता है और जब आप इसे Accept करते है तभी आप Group में Join होते है। अगर आप Group में Join नहीं होना चाहते है तो आप इसे Ignore भी कर सकते है।

वैसे तो signal app मे बहुत सारे features (whatsapp vs signal) दिए गए है मैंने कुछ खास फीचर्स के बारे में आपको बता दिया है फिर भी और फीचर्स है जिनकी लिस्ट मैंने आपको नीचे दे दी है अपने दूसरे लेख में इन सभी के बारे में आपको पूरी जानकारी बताएंगे।

1.Group Link or QR-code
2.Manage a group
3.Delete for everyone
[email protected] Mentions in Group Chats
4.Storage Management
5.Font Size Options
6.Language Options
7.Mark as Unread
8.Forward
9.Pin or Unpin Chats
10.Broadcast Media
11.In-App Notification Options
12.Note to Self
13.Message Reactions
14.View-once Media
15.Stickers
16.Signal Desktop Keyboard Shortcuts
17.Navigate to Settings
18.Set and manage disappearing messages
19.Typing Indicators
20.Link Previews
21.Archiving or unarchiving chats
22.Screen Security
23.Unlinking devices
24.How do I change colors?
26How do I know if my message was delivered or read?
27.Linked Devices
28.Delete messages and alerts

व्हाट्सएप को क्यों छोड़ रहे हैं लोग (whatsapp vs signal)

दोस्तो व्हाट्सएप ने अपने प्राइवेस पॉलिसी को अपडेट किया है। (whatsapp vs signal) यूजर्स को इसे मानने के लिए उन्होंने एक शर्त भी रख दी है। अगर कोई यूजर 8 फरवरी तक नए पॉलिसी की शर्तों को नहीं मानता तो उसके अकाउंट को सस्पेंड कर दिया जाएगा। ऐसे में लोग निराश होकर दूसरे मैसेजिंग ऐप (Messaging app) की तरफ बढ़ रहे हैं। उन्हीं app में से एक है सिग्नल ऐप। इस ऐप को लोगों द्वारा काफी पसंद किया जा रहा है। पिछले दिनों में लाख से ज्यादा लोगों ने इसे डाउनलोड किया है। यही कारण है कि यह टॉप डाउलोडेड ऐप्स की लिस्ट में व्हाट्सएप को पिछे छोड़कर पहले नंबर पर पहुंच गया है।

WhatsApp vs Signal comparison

Signal ऐप को सबसे सिक्योर ऐप में से एक माना जाता है. इस प्लेटफॉर्म पर यूजर डेटा शेयर होने का खतरा नहीं है

यह ऐप यूजर्स से उनके पर्सनल डेटा नहीं मांगता, व्हाट्सऐप के साथ भी फिलहाल ऐसा ही है

यह ऐप यूजर्स का चैट बैकअप क्लाउड स्टोरेज पर नहीं भेजता, सारा डेटा आपके फोन में ही सेव रहता है

इस ऐप में Data Linked to You नाम का फीचर भी है, जिससे कोई भी चैट मैसेजेज का स्क्रीनशॉट न ले पाए

इस ऐप का एक और खास फीचर यह है कि यहां पुराने मैसेसेज खुद ही गायब हो जाते हैं

व्हाट्सऐप की तरह यहां ग्रुप बनाकर कोई भी आपकी मर्जी के बिना आपको जोड़ नहीं सकता, इसमें पहले इनवाइट भेजना होता है (whatsapp vs signal)

सिग्नल ऐप में Relay Calls का भी फीचर है, इसके जरिये आपका कॉल Signal सर्वर से जाता है, जिससे सामने वाले कॉन्टैक्ट को आपके IP एड्रेस का पता नहीं चलता

इसमें आप PIN सेट कर सकते हैं, जिससे कोई और आपके अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर पाएगा.

whatsapp vs signal

Signal में नहीं मिलेंगे WhatsApp के फीचर्स

व्हाट्सऐप और सिग्नल का डेटा स्टोर

व्हाट्सऐप जिस तरह की पॉलिसी लेकर आया है उसमें आपका डेटा पूरी तरह सुरक्षित नहीं है. हालांकि व्हाट्सऐप की ओर से कहा गया है कि आपके पर्सनल डेटा के साथ कंपनी कोई छेड़छाड़ नहीं करेगी। लेकिन फिर भी बहुत सारा डेटा व्हाट्सऐप अपनी पेरेंट कंपनी फेसबुक और इंस्टाग्राम के साथ शेयर करता है।

Status updates-(whatsapp vs signal)

व्हाट्सऐप का सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला फीचर है स्टेटस फीचर, लेकिन अगर आप Signal app का इस्तेमाल करते हैं तो आपको यहां ये फीचर नहीं मिलेगा.

WhatsApp Payment– (whatsapp vs signal)

व्हाट्सऐप का एक और खास फीचर है व्हाट्सऐप पेमेंट फीचर. इस फीचर के आने के बाद आप अपने कॉन्टेक्ट्स से लेकर किसी भी UPI तक को पेमेंट कर सकते हैं. फिलहाल सी में ऐसा कोई फीचर ऑप्शन नहीं है.

Customized wallpapers-(whatsapp vs signal)

व्हाट्सऐप में अब आप कस्टम वॉलपेपर फीचर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं. आप अपने हिसाब से अलग-अलग चैट्स में अलग-अलग वॉलपेपर एड कर सकते हैं।लेकिन फिलहाल signal app पर आपको ऐसा कोई फीचर नहीं मिलेगा.

Online-

आप जब भी व्हाट्सऐप पर आते हो आपके दूसरे कॉन्टेक्ट्स को आप ऑनलाइन नज़र आते हो. इसका फायदा ये है कि आप अपने ऑनलाइन कॉन्टेक्ट से बातचीत कर सकते हैं। लेकिन signal app पर ये फीचर मौजूद नहीं है.

सर्वर पर स्टोर नहीं होता डाटा

signal app का कहना है कि आपकी chatting का एक भी हिस्सा अपने सर्वर पर स्टोर नहीं करती है। आपकी chatting history आपके फोन में ही रहती है और यदि आपका फोन खो जाता है या खराब हो जाता है. तो आपकी चैटिंग हिस्ट्री भी खत्म हो जाएगी।

दोस्तो हमे पूरी आशा है कि हमने आप लोगो को whatsapp vs signal app से जुड़ी तमाम जानकारी दे दी है और हम आशा करता है कि आप लोगों को इस इंटरनेट टेक्नोलॉजी के बारे में समझ आ गया होगा। हमारी आप सभी प्रिय यूजर्स से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे सभी लोगो के इसके बारे में पता चल सके और इससे सभी को लाभ हो। हमे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे हम और भी नई नई जानकारियां आप सभी लोगों तक पहुंचा पाने में कामयाब हो सके।

हम हमेशा से यही कोशिश रहे है कि हमेशा अपने readers या यूजर्स का हर तरफ से जानकरियां प्रदान करे, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी समस्या है (whatsapp vs signal) तो आप हमे बेझिजक पूछ सकते हैं। हम जरुर उन समस्याओं का हल निकलने की कोशिश करेंगे। आपको यह लेख कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *