ration card ki jankari| ration card details 2021 के लिए पात्रता

ration card ki jankari

ration card details क्या आप जानना चाहते है ration card ki jankari ,कि ration card kya hai और राशन कार्ड की जरूरत हमे क्यों पड़ती है। आखिर ration card kyo bnaya jata hai और आखिर इस छोटे से कागज की जरूरत क्यों पड़ती है । इन सभी ration card ki jankari आप जानना चाहते है तो आप सही जगह पर है तो इस लेख मे हम आपको ration card ki janakri पूरी तरह से प्रदान करेंगे । ताकि आपको कहीं और से कुछ जानने को आवश्यकता नहीं पड़े। इस लेख ration card ki janakri से आपके सभी सवालों का समाधान हो जाएगा।

ration card ki jankari

जैसा कि आपने कही सुना होगा देखा होगा इसका उपयोग क्यों किया जाता है तो आपको हम आसान भाषा में बता दे की राशन कार्ड एक आम नागरिक के लिए होता है इस राशन कार्ड दस्तावेज का इस्तेमाल करके आप सरकारी द्वारा कम मूल्य पर दुकानों और डीपो से ration का सामान खरीद सकते है। यह राज्य सरकार द्वारा राशन वितरित किया जाता है। आगे जानते है इस ration card के बारे में समस्त जानकारी आपको इस लेख ration card ki janakri मे आपको बताएंगे । तो चलिए आगे जानते है इसके बारे में।

ration card kya hai ( what is ration card)

ration card भारत सरकार द्वारा जारी किया गया एक महत्वपूर्ण दस्तावेज़ होता है। जिसमे भारत के नागरिक की पहचान और आवासीय पते के सबूत का ब्योरा दिया होता है। ration card भारत के आम नागरिकों को कम मूल्य पर भोजन और भोजन से जुड़ी सामग्री यानी ration के सामानों को दिलाने में मदद करती है । इसका उपयोग पहचान पत्र जैसे ड्राइविंग लाइसेंस , आधार कार्ड और पासपोर्ट जैसे अन्य आवश्यक दस्तावेजों को बनवाने के लिए भी किया जाता है । राशन कार्ड आवासीय पते के सबूत के रूप में भी उपयोग होता है ।

हालांकि ration card का सबसे मुख्य कार्य आर्थिक रूप से कमजोर आम भारतीय लोगों को चावल , गेहूं , चीनी और केरोसिन जैसे आवश्यक सामानों को सस्ते दामों उपलब्ध करवाता है। यह इन व्यक्तियों को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के माध्यम से बुनियादी दैनिक जरूरतों तक पहुंचने में मदद प्रदान करता है।

राशन कार्ड के विषय में जानकारी

राशन कार्ड का उपयोग

ration card एक मुख्य दस्तावेज है , इसीलिए इस ration card आवश्यकता हमें बहुत जगह पर पड़ती है ,इसकी लिस्ट मैंने नीचे दी है आप देख सकते है कि कहा इसका उपयोग होता है।

  1. राशन दुकान से खाद्य पदार्थ जिसमें गेहू , चावल , शक्कर तथा एलपीजी , केरोसिन खारिदने के लिए
  2. बैंक अकाउंट खोलने के लिए
  3. स्कूल – कॉलेज में
  4. कोर्ट – कचेहरी में
  5. मतदान कार्ड बनाने के लिए
  6. मोबाइल सिम कार्ड खरीदने के लिए
  7. पासपोर्ट बनाने के लिए
  8. ड्राइविंग लाइसेंस के लिए
  9. LPG कनेक्शन के लिए
  10. Life Insurance निकालने के लिए
  11. सरकारी और निजी कार्यालयों में

राशन कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

ration card ki jankari राशन कार्ड विभिन्न प्रकार के होते है प्रत्येक ration card की एक अलग विशेषता होती है। और प्रत्येक ration card अलग अलग लाभ पहुंचने में मदद करते हैं । राशन कार्ड का निर्णय कुल घरेलू आय के आधार पर किया जाता है , जहां एक परिवार में एक मुखिया होता है , और परिवार के सभी सदस्य जो एक साथ रहते हैं , और किसी अन्य परिवार का हिस्सा नहीं हैं ।

ration card 4 प्रकार के होते है भारत सरकार द्वारा 4 प्रकार के ration card को ही मान्यता प्राप्त है।आसानी से पहचाने जाने के लिए इन राशन कार्ड को अलग – अलग रंगों में बनाए गए हैं , अलग अलग रंग के ration card की लाभ पहुंचाने की अपनी अलग पहचान है। चलिए जानते है ration card के प्रकारों के बारे में।

भारत में राशन कार्ड कितने प्रकार के होते हैं

  1. नीले रंग का राशन कार्ड
  2. गुलाबी रंग का राशन कार्ड
  3. सफेद या मानद रंग का राशन कार्ड
  4. अंत्योदय अन्ना योजना राशन कार्ड

नीले रंग का राशन कार्ड – यह ration card गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले परिवारों के लिए जारी किया गया है, यह कार्ड नीले , हरे , या पीले रंग के रंग में राज्य या संघीय क्षेत्र के आधार पर रंगा हो सकता है । ग्रामीण क्षेत्रों में , यह कार्ड अधिकतम लाभ की अनुमति देता है यह उन परिवारों को जारी किया जाता है जिनके पास एलपीजी या गैस का कनेक्शन नहीं है , और उन्हें कम मूल्य पर खाद्य समग्री के अलावा काम मूल्य पर केरोसिन प्रदान करता है ।

गुलाबी रंग के राशन कार्ड– यह कार्ड उन परिवारों को जारी किया जाता है जिनकी कुल वार्षिक आय गरीबी रेखा से ऊपर होती है । और जो सब्सिडी वाले खाद्य उत्पादों तक लेना चाहते हैं , उन्हें कार्ड जारी किया जाता है , यह कार्ड रंग में नारंगी दिखाई देता है । शहरी क्षेत्रों में यह कार्ड का रंग गुलाबी होता है और इसमें परिवार के मुखिया की तस्वीर भी शामिल होती है ।

सफ़ेद रंग के राशन कार्ड– यह कार्ड उन परिवारों को जारी किया जाता है जो आर्थिक रूप से मजबूत होते हैं , और जिन्हें सब्सिडी वाले उत्पादों और सेवाओं की आवश्यकता नहीं होती है । ऐसे परिवारों के लिए , राशन कार्ड को सफ़ेद या मानद कार्ड कहा जाता है और केवल पहचान और आवासीय पते के प्रमाण के रूप में उपयोग किया जाता है ।

अंत्योदय अन्ना योजना कार्ड– यह राशन कार्ड भारत के सबसे गरीब परिवारों को जारी किया जाता है , जिनके पास आय का स्थिर स्रोत नहीं होता है । जिनके पास साल भर में अलग – अलग तरीकों से धनराशि आ रही है । जैसे मौसमी श्रमिकों और मजदूरों , बुजुर्गों और बेरोजगारों को शामिल किया जाता हैं। जिनकी औसत आय 250 रुपए प्रति माह पारिवारिक आय होती है । इस राशन कार्ड मे 3 रुपए प्रति किलो चावल 35 किलोग्राम सहित अन्य सब्सिडी वाली वस्तुओं को मिलने में मदद करता है ।

राशन कार्ड में किसका ब्यौरा रहता है

ration card एक प्रकार का पहचान पत्र भी होता है । यह आवासीय निवास पत्र के रूप में भी काम आता है इस पत्र मे परिवार के मुखिया और परिवार के समस्त सदस्य का ब्योरा होता है । इस ब्योरा मे आपकी आपका निवास स्थान नाम जन्मतिथि जैसी सभी प्रकार की जानकारी दी होती है। (pm kisan samman nidhi yojana क्या है लाभ कैसे ले online apply लिस्ट चेक |)

राशन कार्ड के नियम 2021

राशन कार्ड बनवाने के लिए डॉक्यूमेंट

ration card बनवाने के लिए आईडी प्रूफ के तौर पर आधार कार्ड, वोटर आईडी, पासपोर्ट, सरकार के द्वारा जारी किया गया कोई आई कार्ड, हेल्थ कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस दिया जा सकता है। इसके अलावा पैन कार्ड, पासपोर्ट साइज फोटो, आय प्रमाण पत्र, पते के प्रमाण के तौर पर बिजली बिल, गैस कनेक्शन बुक, टेलिफोन बिल, बैंक स्टेटमेंट या पासबुक, रेंटल एग्रीमेंट जैसे डॉक्युमेंट भी लग सकते है।

राशन कार्ड कौन बनवा सकता है

ration card हर किसी भी व्यक्ति का नहीं ​बन सकता है। यह एक आम नागरिक या निश्चित आयवर्ग के लिए ही होता है, जिसकी सीमा अलग-अलग राज्य में अलग-अलग प्रकार की होती है. मुख तौर पर 3 प्रकार के राशन कार्ड होते हैं गरीबी रेखा के ऊपर (APL), गरीबी रेखा के नीचे (BPL) और अन्‍त्योदय परिवारों के लिए अंत्योदय कैटेगरी में बेहद ज्यादा गरीब लोग रखे जाते हैं. राशन कार्ड बनवाने के लिए पात्रता नीचे दी गई है आप इस अच्छे से पढ़ लीजिए।

राशन कार्ड के लिए पात्रता

  1. राशन कार्ड बनवाने के लिए व्यक्ति का भारत का नागरिक होना अनिवार्य है।
  2. व्यक्ति के पास किसी अन्य राज्य का राशन कार्ड नहीं होना चाहिए।
  3. जिसके नाम पर राशन कार्ड बन रहा है, उसकी उम्र 18 साल से ज्यादा होनी चाहिए।
  4. 18 साल से कम उम्र के बच्चों का नाम माता-पिता के राशन कार्ड में शामिल किया जाता है।
  1. एक परिवार में परिवार के मुखिया के नाम पर राशन कार्ड होता है।
  2. राशन कार्ड में जिन सदस्यों को शामिल किया जा रहा है, उनका परिवार के मुखिया से नजदीकी संबंध होना जरूरी है।
  3. परिवार के किसी भी सदस्‍य का उससे पहले से कोई भी राशन कार्ड में नाम नहीं होना चाहिए.

राशन कार्ड बनने के कितने दिन बाद राशन मिलता है

ration card में आवेदन करने के बाद सरकारी जांच होती है जो लगभग 30 दिन तक होती है इसके बाद आगे की प्रक्रिया होती है। आपकी सभी डिटेल को वेरिफाई होने के बाद राशन कार्ड बन जाता है। और अगर यदि आपकी कोई डिटेल गलत पाई जाती है तो आपके ऊपर कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है।

दोस्तो हमे पूरी आशा है कि हमने आप लोगो को ration card ki jankari से जुड़ी तमाम जानकारी दे दी है और हम आशा करता है कि आप लोगों को इस ration card ki jankari के बारे में समझ आ गया होगा। हमारी आप सभी प्रिय यूजर्स से गुजारिस है की आप लोग भी इस ration card ki jankari जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share करें, जिससे सभी लोगो के इसके बारे में पता चल सके और इससे सभी को लाभ हो। हमे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे हम और भी नई नई जानकारियां आप सभी लोगों तक पहुंचा पाने में कामयाब हो सके।

हम हमेशा से यही कोशिश रहे है कि हमेशा अपने readers या यूजर्स का हर तरफ से जानकरियां प्रदान करे, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी समस्या है तो आप हमे बेझिजक पूछ सकते हैं। हम जरुर उन समस्याओं का हल निकलने की कोशिश करेंगे। आपको यह लेख ration card ki jankari कैसा लगा हमें comment लिखकर जरूर बताएं ताकि हमें भी आपके विचारों से कुछ सीखने और कुछ सुधारने का मौका मिले।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *