IS Full Form – IS का फुल फॉर्म क्या होता है?

हेलो फ्रेंड्स, क्या आपने कभी IS शब्द को सुना है। आज के पोस्ट में हम इसी IS के बारे में बात करने वाले है। यदि आपके मन यह सवाल है कि IS का फुल फॉर्म क्या होता है, इसका क्या काम होता है, आदि तो इस पोस्ट मे आपके सवाल का जवाब मिल जाएगा।

IS का फुल फॉर्म क्या होता है? (What is the full form of IS?)

चलिए हम सबसे पहले IS का फुल फॉर्म हिंदी और इंग्लिश दोनों में जान लेते है। IS का फुल फॉर्म इंटरनेट सर्वर हिंदी में होता है। IS full form is Internet Server इंग्लिश में होता है।

[table id=19 responsive=scroll/]

IS क्या होता है? (What is IS?)

जैसे की IS के फुल फॉर्म से ही समझ में आ रहा है कि यह एक सर्वर होता है जो की इंटरनेट से जुड़ा हुआ होता है। अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि सर्वर क्या होता है तो हम आपको बता दे की सर्वर एक या एक से ज्यादा कंप्यूटर होते है। जिसमे सामान्य कंप्यूटर के जैसा सॉफ्टवेयर नहीं होता है। इनमे अलग तरह का सॉफ्टवेयर होता है और यह 24 घंटे, 7 दिनों इंटरनेट से जुड़े हुए होते है।

IS का काम क्या होता है? (What is the work of IS?)

इस दुनिया को बिना IS के सोचना असंभव है। यदि IS न हो तो न इंटरनेट होगा, न वेबसाइट होगा, और न ही मोबाइल एप्प होगा। आज के समय में IS का बहुत बड़ा काम है, IS के कारण ही आप इस पोस्ट को पढ़ पा रहे है, IS के कारण ही आप किसी एप्प को चला पाते है, IS के कारण ही आप ऑनलाइन डाटा हासिल कर पाते है या किसी फॉर्म को भर पाते है। हम आपको बता दे कि IS के कारण ही ऑनलइन भुगतान किया जा सकता है।

IS कैसे काम करता है? (how IS works?)

यदि आपके मन में यह सवाल आ रहा है कि IS कैसे काम करता है तो चलिए हम आपको बताते है। चुकी IS एक सर्वर होता है तो इसका मुख्य काम होता है यूजर के एक्सेस को चेक करके उनके के हिसाब से Data को देना।

सर्वर यूजर से HTTP (Hypertext Transfer Protocol) के माध्यम से अनुरोध (requests) लेते है। HTTP का सुरक्षित प्रकार HTTPS है। इस समय हर एक सर्वर HTTPS से ही अनुरोध को लेते है और इसके माध्यम से ही डाटा/कंटेंट यूजर को देते है।

हम आपको बता दें कि किसी सर्वर को एक्सेस करने के लिए ब्राउज़र की जरूरत होती है। इसके साथ हम आपको यह भी बता दे की सर्वर यूजर से डाटा को लेकर रख भी सकता है।

हर एक सर्वर का अलग-अलग IP address होता है। IP address मोबाइल नंबर के जैसा ही होता है, लेकिन मोबाइल नंबर नहीं होता है।

क्या खुद का IS बना सकते है? (Can I make my own IS?)

यदि आपका सवाल यह है कि क्या खुद का घर पर IS बना सकते है तो इसका जवाब हाँ है। आप बहुत ही आसानी से अपने घर पर खुद का IS बना सकते है।

इसके लिए आपको अपने कंप्यूटर में एक सॉफ्टवेयर इनस्टॉल करना होगा जो की आपके कंप्यूटर को सर्वर बना देगा। इसके साथ ही आपको अपने कंप्यूटर को 24 घंटे और 7 दिन चालू रखना होगा और इंटरनेट से जुड़ करके रखना होगा।

आप अपने घर पर बनाए सर्वर को कही से भी एक्सेस कर सकते है। इसके अलावा आप अपने खुद के सर्वर पर हर वह काम कर सकते है जो एक सर्वर पर होता है।

निष्कर्ष (Conclusion)

आज के इस पोस्ट में हमने IS को जाना, IS क्या होता है और कैसा काम करता है यह सब जाना। आपको हमारा यह पोस्ट IS पर कैसा लगा आप हमें कमेंट करके बताए।

IS full form FAQ’s

IS का फुल फॉर्म इंटरनेट सर्वर हिंदी में होता है। IS full form is Internet Server इंग्लिश में होता है।
यह एक सर्वर होता है जो की इंटरनेट से जुड़ा हुआ होता है। अब आपके मन में सवाल आ रहा होगा कि सर्वर क्या होता है तो हम आपको बता दे की सर्वर एक या एक से ज्यादा कंप्यूटर होते है। जिसमे सामान्य कंप्यूटर के जैसा सॉफ्टवेयर नहीं होता है। इनमे अलग तरह का सॉफ्टवेयर होता है और यह 24 घंटे, 7 दिनों इंटरनेट से जुड़े हुए होते है।
IS न हो तो न इंटरनेट होगा, न वेबसाइट होगा, और न ही मोबाइल एप्प होगा। आज के समय में IS का बहुत बड़ा काम है, IS के कारण ही आप इस पोस्ट को पढ़ पा रहे है, IS के कारण ही आप किसी एप्प को चला पाते है, IS के कारण ही आप ऑनलाइन डाटा हासिल कर पाते है या किसी फॉर्म को भर पाते है। हम आपको बता दे कि IS के कारण ही ऑनलइन भुगतान किया जा सकता है।

और पढ़े ::