Advertisements

ESR Test क्या है? ESR Test की पूरी जानकारी हिंदी में।

Advertisements

नमस्कार दोस्तों! आज की इस पोस्ट में हम ESR पर चर्चा करेंगे तथा इसके बारे में विभिन्न प्रकार की जानकारियां जैसे कि इसका फूल फॉर्म क्या होता है, और यह टेस्ट किस प्रकार होता है, इस टेस्ट का क्या कार्य है, इसी प्रकार की अन्य जानकारियों तथा प्रश्नों पर आज हम चर्चा करेंगे।

आपकी समस्याओं का समाधान आपको देंगे तो आइए बिना वक्त को बर्बाद किए हम आज के अपने टॉपिक जिसका शीर्षक है ESR टेस्ट उसके बारे में चर्चा करते हैं।

ESR test क्या होता है? (What is ESR test?)

ESR एक प्रकार का ऐसा टेस्ट होता है जिससे हमारे रक्त में उपस्थित लाल रक्त कणिकाओं अर्थात रेड ब्लड सेल्स का टेस्ट किया जाता है।

ESR टेस्ट से क्या होता है? (What happens with the ESR test?)

ESR टेस्ट एक प्रकार का सामान्य ब्लड टेस्ट होता है। जिसकी सहायता से हमारे शरीर के किसी भी हिस्से में हुए सूजन या किसी भी प्रकार के संक्रमण तथा बीमारियों का पता लगाया जा सकता है।

ESR का फुल फॉर्म क्या होता है? (What is the full form of ESR?)

ESR टेस्ट का full form erythrocyte sedimentation rate (एरिथ्रोसाइट सेडिमेंटेशन रेट) होता है। इसे कई लोग वेस्टरग्रेन टेस्ट के नाम से भी जानते हैं।

ESR test की प्रक्रिया किस प्रकार से की जाती है? (How is the ESR test done?)

ESR टेस्ट की प्रक्रिया निम्नलिखित कई चरणों में पूरी होती है जो कि हमारे द्वारा निम्नलिखित बताया गया है।

जब भी हमारे शरीर में ESR टेस्ट के द्वारा किसी भी संक्रमण अथवा सूजन या फिर किसी प्रकार की बीमारी का पता लगाया जाता है तो इसके लिए सबसे पहले हमारा ब्लड सैंपल लिया जाता है।

यह भी जाने : सांप्रदायिकता क्या है?

उसके बाद हमारे रक्त की लाल रुधिर कणिकाओं को ट्यूब में डालकर व कितने समय में जमती हैं, इस बात का पता लगाया जाता है। जितनी अधिक कोशिकाएं इसमें जमा होती हैं हमारे शरीर में सूजन तथा संक्रमण का खतरा उतना ही ज्यादा बढ़ जाता है ।

ESR टेस्ट करने के बाद हमारे उपचार किस प्रकार किया जाता है? (How are we treated after having an ESR test?)

ESR टेस्ट के लिए हमारे ब्लड सैंपल लेने के बाद ESR टेस्ट के साथ हमेशा सीबीसी और सीआरपी टेस्ट करवाया जाता है। क्योंकि ESR टेस्ट की सहायता से हमें सिर्फ यह पता चलता है कि हमारा लाल रक्त कणिका कितने समय में जमता है परंतु ESR टेस्ट के अलावा इन दोनों टेस्ट को करने से हमें यह पता चल जाता है कि शरीर में सूजन का या फिर किसी भी अन्य संक्रमण का क्या कारण है।

ESR के बढ़ने के क्या कारण हो सकते हैं? (What can be the reasons for the increase in ESR?)

हमारे शरीर में ESR के बढ़ने के निम्नलिखित कारण हो सकते हैं जैसे कि थायराइड का होना, माहवारी और गर्भावस्था के दौरान महिला के खून में हिसार में वृद्धि होती है, गठिया रोग, चेहरे पर संक्रमण, वायरल संक्रमण, ह्रदय रोग इत्यादि बताई गई। सभी कारणों की वजह से हमारे शरीर में ESR के बढ़ने का खतरा बहुत ही अधिक बढ़ जाता है।

निष्कर्ष (Conclusion)

तो दोस्तों आज का हमारा टॉपिक  जिसका शीर्षक ESR था। उसके बारे में हमने आपको विभिन्न प्रकार की जानकारियों तथा विभिन्न प्रकार के प्रश्नों की माध्यम से आपको ESR टेस्ट के बारे में सभी प्रकार की आवश्यक जानकारियां उपलब्ध करा दी है।

हम आगे भी अपने पोस्ट के माध्यम से आपकी सहायता करते रहेंगे इसके साथ ही हम आपसे यह भी निवेदन करते हैं कि यदि आपको हमारी पोस्ट में किसी भी प्रकार की कोई त्रुटि नजर आए तो हमें कमेंट बॉक्स में जरूर बताएं तब तक के लिए धन्यवाद।

Leave a comment

error:
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Refresh
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro