E-book क्या है? | ई-रीडर की पूरी जानकारी हिंदी में

Advertisements

हेलो दोस्तों कैसे हो? मुझे उन्मीद हे की आप सब ठीक होंगे तो आज हम आपको डिटेल के साथ बताने वाले हे की E-book क्या है? और ई-रीडर की पूरी जानकारी हिंदी में? और मुझे पूरी उन्मीद हे की आप इस आर्टिकल को सुरु से लेकर अंत तक पढ़ेंगे तो आपको कुछ भी Question नहीं रहेगा तो चलिए सुरु करते है।

ई-बुक्स वे ई-रीडर हैं जिन्होंने पारंपरिक किताबों की जगह ले ली है। वे सभी विभिन्न आकारों और आकारों में आते हैं, और किसी भी उपकरण पर पढ़े जा सकते हैं। कुछ लोग उन्हें पसंद करते हैं क्योंकि वे छोटे और हल्के होते हैं, जबकि अन्य टैबलेट के बड़े स्क्रीन आकार को पसंद करते हैं।

ई-बुक्स का सबसे बड़ा नुकसान यह है कि वे पारंपरिक किताबों की तरह टिकाऊ नहीं होती हैं।Ebooks को अब लगभग कुछ साल हो गए हैं और वे लोकप्रियता में लगातार बढ़ रहे हैं। वे सुविधाजनक हैं, आसानी से ले जा सकते हैं और किसी भी डिवाइस पर पढ़े जा सकते हैं।

कई अलग-अलग ईबुक प्रारूप उपलब्ध हैं, जिनमें ई-बुक्स, ई-रीडर ऐप्स और पीडीएफ शामिल हैं।

Ebooks को अब लगभग कुछ साल हो गए हैं और वे लोकप्रियता में लगातार बढ़ रहे हैं। वे सुविधाजनक हैं, आसानी से ले जा सकते हैं और किसी भी डिवाइस पर पढ़े जा सकते हैं। कई अलग-अलग ईबुक प्रारूप उपलब्ध हैं, जिनमें ई-बुक्स, ई-रीडर ऐप्स और पीडीएफ शामिल हैं।

यह भी जाने: Access क्या है?

E-book क्या है?

एक ईबुक, इलेक्ट्रॉनिक पुस्तक के लिए संक्षिप्त, पोर्टेबल दस्तावेज़ प्रारूप (पीडीएफ), एपब और मोबी में उपलब्ध कराया गया एक डिजिटल प्रकाशन है। ई-किताबें स्मार्टफोन, टैबलेट और कंप्यूटर जैसे उपकरणों पर पढ़ी जा सकती हैं। वे अपने पारंपरिक समकक्षों जैसे पोर्टेबिलिटी, कम कीमत और सुविधा पर कई लाभ प्रदान करते हैं।

E-Book कैसे बनाएं?

E-Book कैसे बनाएं?

Advertisements

ईबुक एक डिजिटल किताब है जिसे स्मार्टफोन, टैबलेट और लैपटॉप जैसे उपकरणों पर पढ़ा जा सकता है। वे अक्सर पारंपरिक कागज़ की किताबों की तुलना में आकार में छोटे होते हैं और इनमें पाठ, चित्र और ऑडियो हो सकते हैं। ई-बुक्स को ऑनलाइन स्टोर से खरीदा जा सकता है या वेबसाइटों से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है।

ईबुक बनाने के कुछ तरीके हैं। Adobe InDesign या Microsoft Word जैसे सॉफ़्टवेयर का उपयोग करने का सबसे आम तरीका है। ये प्रोग्राम आपको एक दस्तावेज़ बनाने की अनुमति देते हैं जिसे PDF या ePUB फ़ाइल में परिवर्तित किया जा सकता है।

ईबुक बनाने का एक अन्य तरीका एक वेबसाइट का उपयोग करना है जो ईबुक बनाने में माहिर है। ये वेबसाइटें आपको अपने स्वयं के दस्तावेज़ अपलोड करने या पुस्तक बनाने के लिए उनके टेम्प्लेट का उपयोग करने की अनुमति देती हैं।

भारत में बुक का क्या भविष्य है?

भारत में ई-बुक उद्योग फलफूल रहा है। फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) की एक रिपोर्ट के अनुसार, ई-बुक बाजार 2016 से 2020 तक 45% की चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CAGR) से बढ़कर रु। 2020 तक 27 बिलियन ($407 मिलियन)। यह भारत को दुनिया में ई-बुक्स के लिए सबसे तेजी से बढ़ते बाजारों में से एक बनाता है।

तो क्या इस वृद्धि को चला रहा है? एक कारण यह है कि भारतीय तेजी से इलेक्ट्रॉनिक रूप से किताबें पढ़ रहे हैं।

वास्तव में, इसी फिक्की की रिपोर्ट के अनुसार, भारत में डिजिटल पुस्तक पाठकों की संख्या 2016 में 141 मिलियन से बढ़कर 2020 तक 288 मिलियन होने की उम्मीद है।

ऑनलाइन बुक कैसे लिखें?

किताब लिखना मुश्किल हो सकता है, लेकिन इंटरनेट की मदद से इसे अपेक्षाकृत आसानी से किया जा सकता है। कई उपयोगी वेबसाइटें हैं जो एक किताब लिखने और इसे प्रकाशित करने के बारे में सुझाव और सलाह देती हैं।

सीखने का सबसे अच्छा तरीका है करना, इसलिए लिखना शुरू करें और देखें कि क्या होता है। आप लेखकों के ऑनलाइन समुदाय भी पा सकते हैं जो समर्थन और प्रतिक्रिया दे सकते हैं। अपने लक्ष्यों को ध्यान में रखना, प्रेरित रहना और उसके साथ मज़े करना याद रखें!

बुक के लाभ

  1. स्मार्ट फोन, टैबलेट और लैपटॉप जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों की लोकप्रियता के साथ, इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है कि ई-किताबें हर साल अधिक लोकप्रिय हो रही हैं। ई-किताबें पारंपरिक कागज़ की किताबों की तुलना में कई तरह के लाभ प्रदान करती हैं।
  2. एक के लिए, ई-पुस्तकें बहुत हल्की होती हैं और पारंपरिक पुस्तकों की तुलना में कम जगह लेती हैं। यात्रा या छुट्टी पर जाने पर यह विशेष रूप से फायदेमंद होता है।
  3. ई-किताबें कीवर्ड या वाक्यांशों के लिए भी खोजी जा सकती हैं, जिससे किसी पुस्तक के पृष्ठों के माध्यम से फ़्लिप करने की तुलना में जानकारी ढूंढना बहुत आसान और तेज़ हो जाता है।
  4. इसके अतिरिक्त, कई ई-पुस्तकों में विषय से संबंधित वीडियो और अन्य ऑनलाइन संसाधनों के लिंक शामिल हैं। यह उन छात्रों या शोधकर्ताओं के लिए अत्यंत सहायक हो सकता है जिन्हें किसी विशेष विषय पर अधिक जानकारी की आवश्यकता होती है।
  5. ई-किताबें पारंपरिक किताबों की तुलना में सस्ती भी हैं, खासकर अगर आप उन्हें ऑनलाइन इस्तेमाल करके खरीदते हैं।

पुस्तकों को लानेले जाने की समस्या का समाधान

डिजिटल युग में, बहुत से लोग भौतिक प्रतियां खरीदने के बजाय इलेक्ट्रॉनिक रूप से किताबें पढ़ने का विकल्प चुन रहे हैं।

हालांकि यह भारी पुस्तकों को ले जाने की आवश्यकता को दूर करता है, लेकिन यात्रा करते समय यह एक समस्या हो सकती है क्योंकि लैपटॉप और फोन जैसे इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को अलग से ले जाने की आवश्यकता होती है।

इस मुद्दे को ईबुक पाठकों के विकास द्वारा हल किया गया है, जो विशेष रूप से इलेक्ट्रॉनिक किताबें पढ़ने के लिए डिज़ाइन किए गए उपकरण हैं। ईबुक रीडर कई प्रकार के आकार और आकार में आते हैं, लेकिन सभी में एक समान विशेषता होती है – वे उपयोगकर्ताओं को एक ही डिवाइस पर बड़ी संख्या में पुस्तकों को संग्रहीत करने की अनुमति देते हैं।

यह उन्हें यात्रा के लिए एकदम सही बनाता है, क्योंकि वे बहुत कम जगह और वजन लेते हैं।

इसके अलावा, अधिकांश ईबुक रीडर एडजस्टेबल फॉन्ट साइज, बैकलाइटिंग और बिल्ट-इन डिक्शनरी जैसी सुविधाएँ प्रदान करते हैं, जो उन्हें दृष्टि समस्याओं वाले लोगों के लिए आदर्श बनाते हैं या जो एक नई भाषा सीख रहे हैं।

प्रिंटिंग का खर्च

एक पेपरबैक पुस्तक की औसत लागत लगभग $12 है, जबकि एक ebook की औसत लागत लगभग $9 है। इसका मतलब है कि अगर आप 10 किताबें खरीदते हैं, तो आप पेपरबैक किताबों पर 120 डॉलर खर्च करेंगे, लेकिन ईबुक पर केवल 90 डॉलर खर्च होंगे। यह एक बड़ा अंतर नहीं लग सकता है, लेकिन यह वास्तव में समय के साथ जुड़ सकता है।

ईबुक न केवल सस्ती हैं, बल्कि वे कम जगह भी लेती हैं। एक पेपरबैक किताब का वजन 2 पाउंड तक हो सकता है, जबकि एक ईबुक का वजन 0.1 पाउंड जितना कम हो सकता है। इससे उन्हें इधर-उधर ले जाना और स्टोर करना बहुत आसान हो जाता है।

ईबुक का एक अन्य लाभ यह है कि वे अक्सर अपने पेपरबैक समकक्षों की तुलना में पहले उपलब्ध होते हैं। उदाहरण के लिए, हैरी पॉटर श्रृंखला की नवीनतम पुस्तक पेपरबैक रूप में जारी होने से पहले एक ईबुक के रूप में उपलब्ध थी।

बुक के हानि

ई-बुक के हानि
ई-बुक की हानि

हाल के वर्षों में ई-किताबों की लोकप्रियता बढ़ी है। हालांकि, ई-किताबों का उपयोग करने के कई नुकसान हैं जिनके बारे में लोगों को पारंपरिक किताबों से स्विच करने से पहले पता होना चाहिए। सबसे पहले, बहुत से लोगों को लंबे समय तक स्क्रीन से पढ़ना मुश्किल लगता है।

इससे आंखों में थकान और सिरदर्द हो सकता है। इसके अतिरिक्त, स्क्रीन नीली रोशनी का उत्सर्जन करती है जो समय के साथ आंखों के लिए हानिकारक हो सकती है।

दूसरे, कई ई-पुस्तकें प्रिंट प्रारूप में उपलब्ध नहीं हैं, जिसका अर्थ है कि उन्हें दूसरों द्वारा साझा या आनंदित नहीं किया जा सकता है जिनके पास डिजिटल डिवाइस तक पहुंच नहीं है।

तीसरा, ई-पुस्तकें अक्सर महंगी हो सकती हैं और हमेशा अपने प्रिंट समकक्षों की तुलना में कम कीमत पर उपलब्ध नहीं होती हैं। अंत में, ई-पुस्तकों की डिजिटल प्रकृति के कारण, यदि ठीक से बैकअप न लिया जाए तो वे अक्सर आसानी से खो सकते हैं या क्षतिग्रस्त हो सकते हैं।

बुक का उपयोग

ऐसी पुस्तक खोजना कठिन होता जा रहा है जो ईबुक के रूप में भी उपलब्ध नहीं है। कुछ लोगों के लिए, यह बहुत अच्छी खबर है क्योंकि इसका मतलब है कि वे एक ही डिवाइस पर पुस्तकालय की किताबों को चारों ओर ले जा सकते हैं।

दूसरों के लिए, इसका मतलब है कि उन्हें इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों पर पढ़ने के लिए मजबूर किया जाता है, जो कुछ लोगों को असहज या मुश्किल लगता है।

ईबुक के कई फायदे हैं। वे एक चीज़ के लिए कम जगह लेते हैं, और वे अक्सर अपने प्रिंट समकक्षों की तुलना में सस्ते होते हैं। वे खोजे जाने योग्य भी हैं, जो किसी विशिष्ट मार्ग या उद्धरण की तलाश में मददगार हो सकते हैं।

इसके अतिरिक्त, कई ई-बुक्स बिल्ट-इन डिक्शनरी और अन्य टूल्स के साथ आते हैं जो आपके पढ़ने के कौशल को बेहतर बनाने में आपकी मदद कर सकते हैं।

दूसरी ओर, ईबुक में कुछ कमियां हैं।

ईबुक: वे लोकप्रिय क्यों हैं 

ईबुक कई कारणों से लोकप्रिय हैं। वे मुद्रित पुस्तकों की तुलना में सस्ते हैं, और वे कोई भौतिक स्थान नहीं लेते हैं। आप उनमें से लगभग हजारों को एक ही उपकरण पर ले जा सकते हैं। उन्हें ढूंढना और डाउनलोड करना भी आसान है।

सही ईबुक रीडर कैसे चुनें

बाजार में बहुत सारे ईबुक रीडर हैं, और यह तय करना मुश्किल हो सकता है कि आपके लिए कौन सा सही है। ईबुक रीडर चुनते समय कुछ बातों पर ध्यान देना चाहिए:

  1. आप अपने रीडर पर कितनी किताबें स्टोर करना चाहते हैं? यदि आप अपने साथ बहुत सी पुस्तकें ले जाने की योजना बना रहे हैं, तो आपको एक ऐसे पाठक की आवश्यकता होगी जिसमें बहुत अधिक संग्रहण स्थान हो।
  2. आप कितनी बार अपने पाठक का उपयोग करने की योजना बना रहे हैं? यदि आप इसे कभी-कभार ही उपयोग करने की योजना बनाते हैं, तो आपको महंगे या सुविधा संपन्न पाठक की आवश्यकता नहीं हो सकती है।
  3. आप किस तरह की किताबें पढ़ते हैं? यदि आप ज्यादातर फिक्शन पढ़ते हैं, तो आपको बड़ी स्क्रीन वाला पाठक चाहिए। यदि आप ज्यादातर नॉनफिक्शन पढ़ते हैं, तो एक छोटी स्क्रीन ठीक हो सकती है।
  4. क्या आप टच स्क्रीन या बटन चाहते हैं?

ईबुक पढ़ने का सबसे अच्छा तरीका

ईबुक पढ़ने के कई अलग-अलग तरीके हैं। कुछ लोग उन्हें अपने कंप्यूटर पर पढ़ना पसंद करते हैं, अन्य उन्हें अपने फोन या टैबलेट पर पढ़ना पसंद करते हैं। हालांकि, ईबुक पढ़ने का सबसे अच्छा तरीका एक समर्पित ईबुक रीडर है।

ईबुक पाठकों के पास ऐसी स्क्रीन होती हैं जो विशेष रूप से किताबें पढ़ने के लिए डिज़ाइन की जाती हैं। इससे आपकी आंखों के लिए पाठ पर ध्यान केंद्रित करना आसान हो जाता है और आंखों के तनाव को रोकता है।

उनके पास आमतौर पर फोन या टैबलेट की तुलना में अधिक बैटरी जीवन होता है, जिसका अर्थ है कि आप रिचार्ज किए बिना अधिक समय तक पढ़ सकते हैं।

ईबुक रीडर का एक और फायदा यह है कि उनके पास आम तौर पर अन्य उपकरणों की तुलना में अधिक संग्रहण स्थान होता है। इसका मतलब है कि आप अपनी पूरी लाइब्रेरी को अपने साथ कहीं भी ले जा सकते हैं। ईबुक रीडर भी अक्सर अन्य उपकरणों की तुलना में सस्ते होते हैं, जिससे वे आपके पैसे का एक बड़ा मूल्य बन जाते हैं।

एक ईबुक क्यों लिखें

ईबुक एक डिजिटल किताब है जो हाल के वर्षों में बहुत लोकप्रिय हो गई है। ऐसे कई कारण हैं जिनकी वजह से कोई व्यक्ति ईबुक लिखना चाहता है।

शायद उनके पास किसी विशेष विषय पर साझा करने के लिए बहुत ज्ञान और अनुभव है और वे व्यापक दर्शकों तक पहुंचना चाहते हैं। या हो सकता है कि उनका अपना व्यवसाय हो और वे अपनी ईबुक ऑनलाइन बेचकर एक अतिरिक्त राजस्व धारा बनाना चाहते हों।

कारण जो भी हो, ईबुक लिखने से पहले कई बातों का ध्यान रखना चाहिए। पहला कदम एक अच्छे विषय के साथ आना है जो लोगों को रुचिकर लगे। लेखक को यह सुनिश्चित करने के लिए कुछ शोध करना चाहिए कि एक व्यापक पुस्तक लिखने के लिए विषय पर पर्याप्त जानकारी उपलब्ध है। एक बार यह हो जाने के बाद, लिखना शुरू करने का समय आ गया है!

एक ईबुक लिखने की प्रक्रिया में समय लग सकता है, लेकिन यह इसके लायक है जब तैयार उत्पाद कुछ ऐसा है जिसे पढ़ने में लोगों को मज़ा आएगा।

निष्कर्ष 

अंत में, ईबुक आपके इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस पर किताबें और पत्रिकाएं पढ़ने का एक शानदार तरीका है। यह सुविधाजनक, उपयोग में आसान है, और इसे आपकी पठन प्राथमिकताओं के अनुसार अनुकूलित किया जा सकता है। इसलिए यदि आप अधिक पुस्तकों या पत्रिकाओं को पढ़ने का तरीका ढूंढ रहे हैं, तो मैं ईबुक का उपयोग करने की अत्यधिक अनुशंसा करता हूं।