Advertisements

भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री कौन थी और उनका जीवन परिचय।

Advertisements

क्या आप जानते है कि भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री कौन थी शायद ही आप जानते है तो चलिए इस लेख के माध्यम से हम आपको भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री और उनके बारे में समस्त जानकारी बताते है। bharat ki pratham mahila mukhyamantri kaun thi

भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री

भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री सुचेता कृपलानी थी वे उत्तरप्रदेश की मुख्यमंत्री थी उनका कार्यकाल
2 अक्टूबर 1963 – 24 मार्च 1969 तक रहा। वे उत्तरप्रदेश की चौथी और भारत की पहली महिला मुख्यमंत्री थी। और वे भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी से रही है। आइए अब जानते है भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री के जीवन परिचय के बारे में।

सुचेता कृपलानी फोटो

सुचेता कृपलानी जीवन परिचय

इनका पूरा नाम सुचेता कृपलानी अन्य नाम सुचेता मज़ूमदार था । वे प्रसिद्ध गांधीवादी नेता आचार्य कृपलानी की पत्नी थीं। इनका जन्म 25 जून, 1908 को अम्बाला, हरियाणा में हुआ था उनके पिता एक सरकारी चिकित्सक थे। उनकी प्रारंभिक शिक्षा कई स्कूलों में पूरी हुई क्योंकि हर दो-तीन वर्ष में पिता का तबादला होता रहता था। आगे की पढ़ाई के लिए उन्हें दिल्ली भेज दिया गया। दिल्ली विश्वविद्यालय के सेंट स्टीफेंस कॉलेज से उन्होंने इतिहास विषय में स्नातक की डिग्री हासिल की। उन्होंने अपनी शिक्षा बी.ए, एम.ए. विद्यालय पंजाब विश्वविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय भाषा हिंदी, अंग्रेज़ी से पढ़ाई पूरी की।

भारत की प्रथम महिला राष्ट्रपति कौन है और उनका जीवन परिचय |

भारत का राष्ट्रीय फल कौन सा है

भारत का राष्ट्रीय चिन्ह क्या है

भारत की प्रथम महिला मुख्यमंत्री 21 वर्ष की उम्र में ही ये स्वतंत्रता संग्राम में कूदना चाहती थीं
उन्होंने सन 1936 में अठाइस साल की उम्र में उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मुख्य नेता जेबी कृपलानी से विवाह किया। 1940 में उन्होंने भारतीय राष्ट्रीय काँग्रेस की महिला शाखा – ‘अखिल भारतीय महिला काँग्रेस’ की स्थापना की। 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन में सक्रिय होने के कारण उन्हें एक साल के लिए जेल जाना पड़ा। 1948 से 1960 तक वह भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की महासचिव रहीं। बनारस हिंदू विश्वविद्यालय में इतिहास की प्राध्यापिका भी रहीं है ।

वर्ष 1946 में नोआखाली (पूर्व बंगाल) के दंगों में पीड़ितों की सहायता तथा बचाव का कार्य किया। वह वर्ष 1948 में प्रथम बार उत्तर प्रदेश विधान सभा सदस्या बनी।

1962 में सुचेता कृपलानी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा का चुनाव लड़ा। वे कानपुर निर्वाचन क्षेत्र से चुनी गयीं और उन्हें श्रम, सामुदायिक विकास और उद्योग विभाग का कैबिनेट मंत्री बनाया गया। 1963 में उन्हें उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बना दिया गया। 1963 से 1967 तक वह उत्तर प्रदेश की मुख्यमंत्री के रूप में कार्यरत रहीं। 1967 में उन्होंने उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले से चौथी बार लोकसभा चुनाव लड़ कर जीत हासिल की।

सन 1971 में उन्होने राजनीति से संन्यास ले लिया। राजनीति से सन्यास लेने के बाद वे अपने पति के साथ दिल्ली में बस गयीं। निःसन्तान होने के कारण उन्होंने अपना सारा धन और संसाधन लोक कल्याण समिति को दान कर दिया।

इसी समय, उन्होंने अपनी आत्मकथा ‘एन अनफिनिश्ड ऑटोबायोग्राफी’ लिखी।

और 1 दिसम्बर 1974 को हृदय गति रूक जाने से उनका निधन हो गया।

गंगा नदी कहां से निकली है गंगा नदी के बारे में समस्त जानकारी

सुचेता कृपलानी भारत के किसी प्रदेश की पहली महिला मुख्य मंत्री थीं। वह एक प्रसिद्ध भारतीय स्वतंत्रता सेनानी एवं राजनीतिज्ञ थीं। उनकी इस उपलब्धियों के लिए देश उनको हमेशा याद करेगा।

जय हिंद।

Leave a comment

error:
Ads Blocker Image Powered by Code Help Pro
Ads Blocker Detected!!!

We have detected that you are using extensions to block ads. Please support us by disabling these ads blocker.

Refresh
Powered By
CHP Adblock Detector Plugin | Codehelppro