ATM Full Form in Hindi | ATM का फुल फॉर्म क्या होता है?

Advertisements

हेलो दोस्तों कैसे हो? मुझे उन्मीद हे की आप सब ठीक होंगे तो आज हम आपको डिटेल के साथ बताने वाले हे की ATM Full Form in Hindi और ATM की पूरी जानकारी हिंदी में। मुझे पूरी उन्मीद हे की आप इस आर्टिकल को सुरु से लेकर अंत तक पढ़ेंगे तो आपको कुछ भी Question नहीं रहेगा तो चलिए सुरु करते है।

एटीएम का मतलब ऑटोमेटेड टेलर मशीन है और यह इलेक्ट्रॉनिक कैश डिस्पेंसर का एक सामान्य नाम है। अधिकांश एटीएम बैंकों और अन्य वित्तीय संस्थानों में स्थित हैं, लेकिन वे कुछ सुविधा स्टोर और अन्य खुदरा स्थानों में भी पाए जाते हैं।

एटीएम ग्राहकों को मौजूदा बैंक खातों या क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके पैसे निकालने की अनुमति देते हैं। ग्राहक अपना बैंक कार्ड या पिन नंबर डालें, अपनी निकासी राशि चुनें और अपनी नकदी प्राप्त करने के लिए बटन दबाएं।

ATM Full Form in Hindi

एटीएम का फुल फॉर्म ऑटोमेटेड टेलर मशीन होता है। एटीएम एक ऐसी मशीन है जो ग्राहकों को बैंक टेलर की सहायता के बिना जमा, निकासी और स्थानान्तरण जैसे लेनदेन करने की अनुमति देती है। आम तौर पर, एटीएम सार्वजनिक स्थानों जैसे बैंक, किराना स्टोर और गैस स्टेशनों पर स्थित होते हैं।

एटीएम क्या है?

एटीएम स्वचालित टेलर मशीन के लिए खड़ा है और यह एक मशीन है जो ग्राहकों को जमा, निकासी और स्थानान्तरण जैसे लेनदेन करने की अनुमति देती है।

Automated teller machine

Advertisements

एटीएम आमतौर पर बैंक शाखाओं में पाए जाते हैं, लेकिन वे अन्य स्थानों जैसे सुविधा स्टोर और मॉल में भी मिल सकते हैं। अधिकांश एटीएम आपको डेबिट कार्ड या क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके अपने खाते तक पहुंचने की अनुमति देते हैं।

मैं एटीएम का उपयोग कैसे करूं?

एटीएम एक आम दृश्य है, लेकिन कितने लोग जानते हैं कि उनका उपयोग कैसे करना है? यहां एटीएम का उपयोग करने के तरीके के बारे में एक गाइड दिया गया है।

जब आप पहली बार एटीएम से संपर्क करें, तो निर्देशों के साथ कोई संकेत देखें। यदि कोई संकेत नहीं हैं, तो एटीएम स्क्रीन पर आदेशों की सूची देखें। सबसे आम आदेश हैं:

  • डिस्प्ले अकाउंट बैलेंस
  • नकदी वापिस लेना
  • जमा नकद
  • खातों के बीच पैसे ट्रांसफर करें
  • ऋण या अन्य ऋण का भुगतान करें
  • खाता गतिविधि का विवरण प्राप्त करें

कुछ एटीएम चेक जारी करने और मुद्रा बदलने जैसी सेवाएं भी प्रदान करते हैं। एक बार जब आपको वह आदेश मिल जाए जिसकी आपको आवश्यकता है, तो अपनी व्यक्तिगत पहचान संख्या (पिन) दर्ज करें और एंटर दबाएं।

आपके खाते की शेष राशि स्क्रीन पर प्रदर्शित होगी। नकद निकालने के लिए, वह राशि दर्ज करें जिसे आप निकालना चाहते हैं और एंटर दबाएं।

एटीएम के प्रकार

विभिन्न प्रकार के एटीएम हैं जो विभिन्न सेवाएं प्रदान करते हैं। सबसे आम प्रकार इन-ब्रांच एटीएम है, जो किसी बैंक या अन्य वित्तीय संस्थान के अंदर पाया जाता है।

ये मशीनें ग्राहकों को नकद निकालने और जमा करने, अपने खाते की शेष राशि की जांच करने और खातों के बीच धन हस्तांतरित करने की अनुमति देती हैं।

एक अन्य प्रकार का एटीएम फ्रीस्टैंडिंग एटीएम है, जो सार्वजनिक स्थानों जैसे ट्रेन स्टेशनों, हवाई अड्डों और शॉपिंग मॉल में पाया जा सकता है।

ये मशीनें ग्राहकों को नकदी निकालने और अपने खाते की शेष राशि की जांच करने की अनुमति देती हैं। कुछ फ्रीस्टैंडिंग एटीएम बिल भुगतान और धन हस्तांतरण जैसी सेवाएं भी प्रदान करते हैं।

एक तीसरे प्रकार का एटीएम मोबाइल एटीएम है, जो एक पोर्टेबल मशीन है जिसे विभिन्न स्थानों पर ले जाया जा सकता है। विशेष आयोजनों या प्रचारों के दौरान बैंकों द्वारा अक्सर मोबाइल एटीएम का उपयोग किया जाता है।

वे ग्राहकों को नकद निकालने और अपने खाते की शेष राशि की जांच करने की अनुमति देते हैं।

निकटतम एटीएम कैसे खोजें

जब आपको नकदी की आवश्यकता होती है, तो आखिरी चीज जो आप करना चाहते हैं वह है एटीएम की तलाश करना। इन युक्तियों के साथ, आप निकटतम एटीएम को जल्दी और आसानी से ढूंढ सकते हैं।

पहला कदम अपने बैंक की वेबसाइट या ऐप की जांच करना है। कई बैंकों में एक लोकेटर टूल होता है जो आपको निकटतम एटीएम दिखाएगा, साथ ही साथ कौन से खुले हैं और नकदी है।

यदि आप सुनिश्चित नहीं हैं कि आप किस बैंक से संबंधित हैं, या यदि आपके बैंक के पास लोकेटर टूल नहीं है, तो www.bankrate.com/atm-locators/ पर जाएं। इस वेबसाइट में संयुक्त राज्य अमेरिका के सभी प्रमुख बैंकों और उनके संबंधित लोकेटर टूल की सूची है।

एक बार जब आपके पास निकटतम एटीएम का पता या निर्देशांक हो, तो दिशा-निर्देश प्राप्त करने का समय आ गया है। यदि आप स्मार्टफोन का उपयोग कर रहे हैं, तो कई जीपीएस ऐप हैं जो आपको वहां जल्दी और आसानी से पहुंचने में मदद कर सकते हैं।

एटीएम में बैलेंस इंक्वायरी

जब आपको यह जानने की जरूरत है कि आपके खाते में कितना पैसा है, तो आप अपना बैलेंस चेक करने के लिए एटीएम का उपयोग कर सकते हैं।

अधिकांश एटीएम आपको आपके सभी खातों के लिए शेष राशि दिखाएंगे, लेकिन कुछ एटीएम एक समय में केवल एक खाते के लिए शेष राशि दिखा सकते हैं।

जब आप अपना बैलेंस चेक कर लें, तो अपना कार्ड और मशीन से कोई भी कैश निकालना सुनिश्चित करें।

एटीएम में पिन बदलें

अगर आपको कभी अपना बैंक पिन बदलना पड़ा है, तो आपको पता चल जाएगा कि यह थोड़ा दर्द भरा हो सकता है। सबसे पहले, आपको वर्तमान पिन को याद रखना होगा, फिर एक नया पिन चुनने और इसकी पुष्टि करने की प्रक्रिया से गुजरना होगा। हर समय, आप इस बात को लेकर चिंतित रहते हैं कि कहीं आप नया नंबर भूल न जाएं और आपका खाता बंद हो जाए।

यह एक ऐसी प्रक्रिया है जिसे एटीएम के उपयोग से सरल बनाया जा सकता है। कीपैड पर बस कुछ ही टैप से, आप अपना पिन भूलने की चिंता किए बिना या बैंक कर्मचारियों के साथ व्यवहार किए बिना उसे बदल सकते हैं। साथ ही, यदि आप अपने स्वयं के उपकरण का उपयोग कर रहे हैं, तो आप यह सब अपने घर के आराम से कर सकते हैं।

इसलिए यदि आप अपना बैंक पिन बदलने का आसान तरीका ढूंढ रहे हैं, तो एटीएम आपके लिए बेहतर विकल्प है। बस सुनिश्चित करें कि प्रक्रिया शुरू करते समय आपके पास आपका कार्ड और पिन है!

एटीएम का उपयोग करने से जुड़े शुल्क

जब आप एटीएम का उपयोग करते हैं, तो आपसे उस बैंक द्वारा शुल्क लिया जा सकता है जो मशीन का मालिक है, कंपनी द्वारा जो लेनदेन को संसाधित करता है, और आपके अपने बैंक द्वारा शुल्क लिया जा सकता है।

एटीएम का उपयोग करने के लिए शुल्क जल्दी से जुड़ सकते हैं, इसलिए यह जानना महत्वपूर्ण है कि इनमें से प्रत्येक शुल्क क्या है और उनसे कैसे बचा जाए।

पहले प्रकार का शुल्क एक अधिभार है, जो उस बैंक द्वारा लिया जाता है जो एटीएम का मालिक है। यह शुल्क आम तौर पर एक निर्धारित राशि है, चाहे आप कितना भी पैसा निकाल लें। सरचार्ज $1 से $5 या अधिक तक हो सकता है।

दूसरे प्रकार का शुल्क एक प्रोसेसिंग शुल्क है, जो उस कंपनी द्वारा लिया जाता है जो एटीएम लेनदेन को संसाधित करती है। यह शुल्क आम तौर पर आपके द्वारा निकाली गई राशि का एक प्रतिशत होता है। प्रसंस्करण शुल्क 50 सेंट से लेकर $ 3 या अधिक प्रति लेनदेन तक हो सकता है।

ATM मशीन का आविष्कार किसने और किस वर्ष किया?

एटीएम मशीन का आविष्कार जॉन शेफर्ड-बैरोन ने 1969 में किया था। उन्होंने 1969 में मशीन का पेटेंट कराया था। पहली एटीएम मशीन इंग्लैंड के एनफील्ड में बार्कलेज बैंक की एक शाखा में स्थापित की गई थी।

आज हमारे लिए ATM कितना महत्वपूर्ण है?

अमेरिकी बैंकिंग में एटीएम मशीनें एक प्रमुख हैं, और उनका महत्व केवल बढ़ रहा है। मोबाइल भुगतान जैसी नई तकनीक के आगमन के साथ, एटीएम मशीनें ग्राहकों और व्यवसायों के लिए और भी महत्वपूर्ण होती जा रही हैं।

Automated teller machine

एटीएम मशीनें नकदी तक त्वरित और आसान पहुंच प्रदान करती हैं, जो नकद लेनदेन पर निर्भर छोटे व्यवसायों के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।

वे ग्राहकों को अन्य लेनदेन करने की क्षमता भी प्रदान करते हैं, जैसे चेक जमा करना या खातों के बीच धन हस्तांतरित करना।

एटीएम मशीनें भी बैंकों के लिए राजस्व का एक मूल्यवान स्रोत हैं। एटीएम लेनदेन के लिए बैंक जो शुल्क लेते हैं, उसके अलावा वे एटीएम में जमा किए गए पैसे पर भी ब्याज कमाते हैं।

नतीजतन, बैंक तेजी से एटीएम मशीनों को उन जगहों पर स्थापित कर रहे हैं जहां वे सबसे अधिक राजस्व उत्पन्न कर सकते हैं।

भारत में कुल कितने एटीएम हैं?

भारत में एटीएम की संख्या लगातार बढ़ रही है। देश में अब लगभग 200,000 एटीएम हैं, और यह संख्या हर समय बढ़ रही है। इसका मतलब है कि भारत में आप जहां भी जाते हैं वहां व्यावहारिक रूप से एक एटीएम उपलब्ध है।

यह भारतीय नागरिकों के लिए एक बड़ी सुविधा है, जो अब बिना बैंक जाए आसानी से नकद निकाल सकते हैं या जमा कर सकते हैं। भारत में एटीएम उद्योग का विकास डिजिटल भुगतान में वृद्धि और भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास के कारण हुआ है।

एटीएम में हम किस तरह के लेनदेन कर सकते हैं?

एटीएम, या स्वचालित टेलर मशीन, एक ऐसा उपकरण है जो ग्राहकों को जमा, निकासी और स्थानान्तरण जैसे लेनदेन करने की अनुमति देता है। एटीएम से नकदी भी निकल सकती है।

एटीएम लेनदेन का सबसे आम प्रकार एक जमा है, जिसे मशीन में चेक या नकद डालकर किया जा सकता है। मशीन तब पैसे की गिनती करेगी और जमा को रिकॉर्ड करेगी। निकासी ग्राहकों को डेबिट कार्ड डालने या पिन नंबर दर्ज करके अपने खाते से नकदी निकालने की अनुमति देती है।

ग्राहक बिना बैंक टेलर के पास गए बिना दो खातों के बीच पैसे ट्रांसफर करने के लिए एटीएम का उपयोग कर सकते हैं।

निष्कर्ष

अंत में, एटीएम का मतलब ऑटोमेटेड टेलर मशीन है। यह एक मशीन है जो ग्राहकों को नकद निकालने, पैसे जमा करने और अपने खाते की शेष राशि की जांच करने की अनुमति देती है। एटीएम का हिंदी में फुल फॉर्म ऑटो-टेली स्कॉर्टी मशीन है।